यंग गर्ल सेक्स वीडियो

लिंबू खाण्याचे फायदे

लिंबू खाण्याचे फायदे, राज ने मुझे मेरी कमर से पकड़ लिया था इसलिए उसकी पकड़ से छूट पाना काफी मुश्किल था. उसका जोश देख कर लग रहा था कि आज मैं बुरी तरह से चुदने वाली हूं. सोनम को देख कर पायल और रोहन एक दूसरे से अलग हुए और डरने का नाटक शुरू कर दिया, पायल ने सोनम के पाँव पकड़ लिए रोहन भी हाथ जोड़ कर किसी को ना बताने की मिन्नतें करने लगा।

अब आप को बताने की ज़रूरत तो नहीं है कि 38 साइज़ की चुची बिना ब्रा के सिर्फ़ टी-शर्ट में कैसी लग रही होंगी.. आप बस कल्पना कर सकते हैं। मैंने जस्सी को खड़ा किया और उसके होंठों पर अपने होंठों रख कर जोर-जोर से चूसने लगा. इतने में जस्सी ने मेरे लंड को लोअर के ऊपर से ही पकड़ लिया और सहलाने लगी.

वाह यह अच्छा है, लंडरानी। वाह मेरे चूत के राजा। देखो तो, मेरी चूत का क्या हाल कर दिया तूने? सच में उसकी चूत की हालत ऐसी हो गयी थी कि किसी गधे से चुदी हो। फूल कर कुप्पा हो गयी थी। खून और वीर्य से लिथड़ा। लिंबू खाण्याचे फायदे मैं उठा अपने पूरे कपडे उतारे, इतनी देर में दीदी ने अपने सारे कपडे उतार दिए थे, दीदी ने बिस्तर पर लेट कर अपनी दोनों टाँगें खोली और चूत का फाटक मेरे सामने खोल के रख दिया.

महालक्ष्मी कॅलेंडर दाखवा

  1. मॉनिटर में दीदी का नंगा बदन दीख रहा था. मैं सब सेट कर एक दीदी के बगल में आ के लेट गया. मैं दीदी का एक चुचि दबाने लगा और दूसरा चूसने लगा. मेरा लंड फिर खड़ा हो गया. दीदी ने उसे दबाया और अपने उपर आने को कहा. मैं उसके उपर सो गया तो दीदी ने मेरा लंड अपने छूट में घुसेड दिया.
  2. पायल कहानियाँ पढ़ती रही और रोहन छुप कर उसको देखता रहा। पायल कहानियाँ पढ़ते पढ़ते गर्म होने लगी थी तभी तो उसका हाथ अपनी स्कर्ट के अन्दर जा चुका था और वो अपने हाथ से अपनी चूत को सहला रही थी। बिहारी सेक्सी चोदने वाला
  3. दीदी ऐसी गंदी बाते करती रही और चुड़वति रही अंगार मैने अपना उंगली उनके गांद से नही निकाला. दीदी की बाते मुझे बहुत गरम कर रही थी. मेरा लॉडा कुछ ही देर में पानी चूड़ने को तैयार हो गया. थूक से पायल की चूत को अच्छे से गीला करने के बाद रोहन ने खड़े होकर अपने लंड का सुपाड़ा पायल की चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया।
  4. लिंबू खाण्याचे फायदे...अब अपने बायें हाथ से मैं उनके बालों को सहला रहा था, दायाँ हाथ उनकी कमर और गांड को सहारा दिए हुए था और मेरे होंठ चाची के चुचूक चूस रहे थे. अब चाची मेरी गोद में बैठ कर तेजी से अपने आप को चुदवा रहीं थी. फिर उसने आसन चेंज किया. मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से उसने लन्ड पेल दिया और घोड़ी वाले आसन में चुदाई करने लगा। मेरी कमर पकड़ कर धक्के लगाते हुए उसका लंड पूरा का पूरा मेरी चूत में जा रहा था जिसके कारण फच-फच की आवाज हो रही थी. लगता उसका लन्ड पूरा मेरी चुत में घुसता जिससे फच फच की आवाज होती।
  5. रेशु..ये ऑन नहीं हो रहा.. मैंने माँ की चाबी ली और बहुत ट्राय किया पर नहीं हुआ, में भी पूरा भीग चुक्का था फिर माँ बाहर मेरे पास आ के बोली इतनी ज्यादा चुदाई से तंग आकर रिया परेशान हो गयी और काफी थकी थकी रहने लगी. अब वो इतनी ज्यादा मात्रा में चुदाई नहीं करवा सकती थी. उसकी गांड दर्द करती रहती थी. इसलिए अब वो अपने पिता को रोकने का उपाय सोचने लगी.

सेक्सी पिक्चर आजा सेक्सी

जब उसने मेरे चूचे पर मुंह रखा तो मैं एक उन्माद से भर गयी. बहुत ही सुखद अहसास था वो. मैं बाकी लड़कियों से कहूंगी कि कभी अपने भाई से कभी अपनी चूचियों को चुसवा कर देखना, वो अहसास ही निराला होता है. फिर राज यहां वहां देखने लगा. वो कुछ जल्दी में लग रहा था.

आंटी अपने आपको सज़ा रही थीं.. शायद अभी अभी वो नहा कर निकली थीं और कपड़े पहन कर मेरे पास आने वाली थीं। तो मैंने उसकी माँ को झट से अपने ऊपर खींच लिया और अपने खड़े लण्ड को पकड़ा दिया.. तो वो छोड़ते हुई अलग हुईं और रसोई में चली गईं।

लिंबू खाण्याचे फायदे,वो अपने मुलायम होंठ से मेरे लंड पर किस करने लगी.. और कुछ देर में लंड के ऊपर वाले भाग को चाटने लगी। वो मेरे लंड को पूरा अन्दर लेने की कोशिश करने लगी, कुछ ही देर के बाद पूरा मुँह में लेकर चूसने लगी।

रमेश रिया के पास गया और उसके बालों को आगे से खींच कर उसके होंठों पर अपने होंठ लगा दिये और उनको किस करने लगा. थोड़ी देर चूमने के बाद रमेश ने रिया को अलग किया और आगे से उसकी दोनों चूचियों को पकड़ कर मसलने लगा. फिर झुक कर उसके बूब्स चूसने लगा.

क्यों में क्यों बारिश को कोस ने लगा...? चाची के सवाल से चौंक तो गया था पर फिर अपने पैंट की जेब में हाथ दाल के बारिश में चलने लगा और चाची मेरे बिहेवियर पे फिर से हंस पड़ी और वो भी मेरे साथ तेज़ चलने लगी.बीएफ सेक्सी फिल्म भेजिए

मैं शरमाते हुए भइया से लिपट गई. भइया ने मुझे तब अपनी बाँहों में भर लिया और अपने सीने से चिपका लिया. उस वक्त मेरे बूब्स भिंचे हुए थे. फूटते हैं फूटते हैं। दूधवाला अभी तक आया नहीं, दूध ले लेना। जाते जाते हरिया नें मानो मेरे दिमाग की बत्ती जला दी। दूधवाला, वाह, मानो बिजली सी कौंधी मेरे दिमाग में। मर्द चाहिए था मुझे, मौके का तकाजा था।

और मैंने मोम की और टर्न कर के देखा तो उन्होंने आंख से अपने बॉब्स की और देखा और इशारा किया..तो में शर्मा गया और फिर से आगे की और देखते हुए कहा..

अभी इतना हुआ ही था कि नीलम बोली- रेशु अब डाल भी दो ना.. सच में यार तुम तरसाते भी बहुत हो और अब तक तुमने मुझे मजा भी बहुत दिया है.,लिंबू खाण्याचे फायदे रेशु, चलो चलते हे, यहाँ रुक्ने का कोई फ़ायदा नहीं हे वैसे भी हम भीग रहे हे और भी भीग जाएंगे.. हम चल्ने लगे में अभी भी कुछ बोल नहीं रहा था

News